HTML

HTML क्या है – What is HTML in Hindi? History of HTML in Hindi and Features of HTML in Hindi?

What is HTML

HTML क्या है – What is HTML in Hindi? History of HTML in Hindi and Features of HTML in Hindi? Hello Friends! How are you? Welcome again to Guptatreepoint blog. दोस्तों जैसा की आप सभी internet चलाते होंगे और किसी भी website या blog को access करते होंगे| चलिए छोडिये अभी यह पोस्ट जो पढ़ रहे हैं वो भी एक blog है जो की HTML से ही बना है लेकिन क्या आप जानते हैं की HTML क्या है और इसका उपयोग क्यों किया जाता है?

अगर कोई भी आदमी web developer बनना चाहता है या खुद से किसी भी website को design करना चाहता है तो सबसे पहले उसको HTML के बारे में जानकारी होना चाहिए| HTML सीखना बहुत ही आसान है आप इसे YouTube के द्वारा online video देखकर भी सिख सकते हैं| बहुत सारे लोग कहते हैं की web developer बनने के लिए आपके पास computer related डिग्री होना चाहिए पर ऐसा कुछ नहीं है अगर आपके पास knowledge है तो डिग्री का कोई महत्व नहीं है क्योंकि सभी company डिग्री देखकर जॉब provide नहीं करते हैं|

HTML क्या है – What is HTML in Hindi?

HTML का full form “Hypertext Markup Language” होता है| यह एक standard markup language है जिसका इस्तेमाल Web-page या website create करने के लिए किया जाता है| HTML में website या web-page design करने के लिए बहुत सारे tags available होते हैं जिसकी मदद से हम web-page design कर सकते हैं| चलिए अब समझते हैं की Hypertext markup language का मतलब क्या होता है?

Hypertext का मतलब होता है की “एक text के अन्दर दूसरा text”| किसी भी text में लिंक available रहता है उसे Hypertext कहा जाता है| आपने बहुत सारे web-pages में देखा होगा की कुछ लिंक available रहते हैं जिस पर click करने के बाद हम किसी दुसरे page पर चले जाते हैं उस text को Hyper text कहा जाता है|

Markup Language एक language होता है जिसका इस्तेमाल web-pages में text को interactive बनाने के लिए किया जाता है| इसमें पहले से ही tag define रहते हैं और सभी tag का अलग अलग काम होता है और साथ ही साथ सभी tag का area fix किया हुआ रहता है की कौन सा tag कितना दूर तक काम करेगा|

History of HTML in Hindi:

1980 में, CERN के एक ठेकेदार (contractor) Physicist (भौतिक बिज्ञानी), Tim Berners-Lee नें CERN Researchers (शोधकर्ताओं) के documents को उपयोग और share करने के लिए उन्होंने एक system का प्रस्ताव दिया| 1989 में, Tim Berners-Lee ने Internet Based Hypertext system का प्रस्ताव देने वाला एक memo (ज्ञापन) लिखा|

Tim Berners-Lee को HTML का father (पिता) कहा जाता है| सबसे पहले HTML का description एक document था जिसे “HTML-tag” कहा जाता है| Tim Berners-Lee के द्वारा HTML को internet पर 1991 में mention किया गया|

Features of HTML:

HTML के बहुत सारे common features हैं तो चलिए हम एक एक करके सभी features को देखते हैं|

  1. यह easy और simple language है जिसको आसानी से समझा जा सकता है और आसानी से modify किया जा सकता है|
  2. यह platform-independent language है मतलब की यह किसी भी operating system में open किया जा सकता है या run कराया जा सकता है|
  3. यह programmer को web-pages पर graphics, video, audio, images इत्यादि add करके web-page को attractive बनाने की facility provide करता है|
  4. यह web-page में programmer को लिंक add करने की facility provide करता है जिससे आसानी से एक page से दुसरे page पर जाया जा सके|
  5. इसमें पहले से tag define होने के कारण बहुत ज्यादा आसान होता है|
  6. HTML case sensitive language नहीं होता है मतलब की इसमें हम capital letter या small letter में tag को लिख सकते हैं लेकिन generally small letter में ही लिखा जाता है| परन्तु इसमें कुछ कुछ code case sensitive होते हैं जैसे की   

HTML कैसे काम करता है – How HTML Works:

यह एक markup language है जो की top-down approach को follow करता है मतलब की यह सबसे पहले ऊपर वाले portion को load करता है उसके बाद निचे की ओर बढ़ता है| आप जब भी कोई website open करते होंगे तो आपने slow नेट connection होने पर गौर किया होगा की सबसे पहले ऊपर वाले portion load हो जाता है उसके बाद निचे का portion load होता है लेकिन कभी कभी ऐसा होता है की ऊपर वाले portion में ज्यादा size का image होता है तो वह image थोडा लेट से load होता है|

HTML में program कैसे बनाये?

दोस्तों जब भी हम नया programming language सीखते हैं तो सबसे बड़ी समस्या हमारे साथ यही रहती है की किसी भी programming language के program को run कराने के लिए हमे किस किस चीज की आवश्यकता होगी| ठीक उसी प्रकार यदि आप HTML सिखने जा रहे हैं तो आपके मन में एक सवाल होगा की HTML को run कराने के लिए कौन कौन से software की आवश्यकता पड़ेगी| चलिए मैं बताता हूँ|

किसी भी HTML program को run कराने के  लिए आपके पास एक text editor (Notepad, Notepad++, Bracket) और एक web browser होना चाहिए| Windows operating system में पहले से ही एक web browser available रहता है और different different operating system में different different browser available रहता है|

जब भी आप अपने text editor में कोई भी HTML program लिखेंगे तो आपको सबसे पहले उसे .html या .htm extension के साथ save करना होगा| जब आप save कर लेंगे तो उसके बाद उसे browser में open करना होगा| आप उस पर double click करके भी open कर सकते हैं या फिर right click करने के बाद open with के option के द्वारा browser में open कर सकते हैं|

HTML Programming Syntax

Doctype HTML : Doctype मतलब Document Type. <!DOCTYPE html> HTML 5 version को represent करता है|

html : यह element HTML page का root element होता है|

head : यह एक element होता है जो की document के meta information को contain करता है| इस element के अन्दर सभी CSS और JavaScript का लिंक add होते हैं|

Title : इस element के अन्दर web-page का title लिखा जाता है जो browser में सबसे ऊपर tab bar में show करता है|

body : इस tag के अन्दर web-page पर display होने वाले सभी text या image को add किया जाता है|

HTML version

  • HTML का पहला version 1991 में आया था जो की केवल HTML से represent किया जाता था|
  • HTML का दूसरा version 1995 में आया जो की HTML 2.0 से represent किया जाने लगा|
  • इसका तीसरा version 1997 में आया जिसे HTML 3.2 से represent किया जाने लगा|
  • चौथा version 1999 में आया जिसे HTML 4.01 से represent किया जाता था|
  • इसके बाद XHTML नाम से एक version आया जिसमें XML और HTML का combination था| यह version 2000 में आया था|
  • अभी सबसे लेटेस्ट version HTML 5 है जो की 2014  में आया था|

Conclusion and Final Words

HTML एक standard markup language है जिसका इस्तेमाल web-page को design करने के लिए किया जाता है| आप कोई भी programming language जैसे की PHP, ASP.net, JSP इत्यादि के द्वारा web-page design करेंगे तो उसमें सबसे basic जो होगा वो HTML होगा| मेरा कहने का मतलब यह है की कोई भी website design करने के लिए आपको HTML की जानकारी होना चाहिए|

दोस्तों मैंने इस पोस्ट में बताया की HTML क्या होता है इसके features कौन कौन से हैं, यह काम कैसे करता है, History of HTML. मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको बहुत पसंद आया होगा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें और साथ ही साथ आप अपना feedback भी जरुर दें| Guptatreepoint blog पर visit करने के लिए धन्यवाद|

About the author

SUMIT KUMAR GUPTA

Myself Sumit Kumar Gupta. I am a programmer and blogger. I spend more time on programming and helps other programmers. I am a part-time blogger because I would like to become a Software developer.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

4 Comments