JAVA

Features of Java in Hindi- जावा की विशेषताएँ

Features of java

Features of Java in Hindi- जावा की विशेषताएँ? Hello Friends! How are you? Welcome again to Guptatreepoint blog. दोस्तों मैंने अपने पिछले पोस्ट में बताया था की Java क्या होता है और History of Java के बारे में बताया था लेकिन आज के इस पोस्ट में मैं आपको Java Features (Features of java) के बारे में बताऊंगा|

Features of Java in Hindi – जावा की विशेषताएँ

जावा language बनाने का सबसे महत्वपूर्ण मकसद यही था की यह Portable, Simple और Highly secured programming language बने| इसके अलावा इसके बहुत सारे और भी features हैं जो की इस पोस्ट में बताये गए हैं| Basic Features of java.

Features of Java

Features of Java

Java programming language के important features की list:

  1. Simple
  2. Complied and Interpreted
  3. Platform Independent / Architecture Neutral
  4. Object Oriented Language
  5. Robust
  6. Multi-threaded
  7. Distributed
  8. Dynamic and Extensible
  9. High performance

Simple

Java एक simple language है क्योंकि यह C और C++ programming language के syntax और इन दोनों programming language के बहुत सारे features को inherit करता है मतलब की इन दोनों programming language के syntax और features Java में use होते हैं|

जो person C और C++ को थोडा बहुत भी जानता हो वह Java आसानी से सीख सकता है| Java language में ऐसे बहुत सारे features को remove कर दिया गया है जो की C और C ++ language में complex थे जिसे सीखना थोडा मुश्किल था|

JAVA Syntax Inherit from C and C++

JAVA Syntax Inherit from C and C++

Sun के अनुसार, जावा एक simple programming language है क्योंकि इसमें complex syntax को remove कर दिया गया है जैसे Operator overloading, friend function etc. और साथ ही साथ इस language में हमें unreferenced objects को remove करने की जरुरत नहीं पड़ती है क्योंकि इस language में Automatic Garbage Collection available होता है जो की unreferenced objects को automatic remove कर देता है|

यह language सीखने में आसान इसलिए हो जाता है क्योंकि इसका concept simple और clear बनाया गया है और साथ ही साथ यह language C, C++ और object oriented programming language के बहुत सारे features को include करता है और इस language में confusing features को remove कर दिया गया है जैसे Header Files, Virtual Function etc.

Complied and Interpreted

Java language किसी भी program को execute करने के लिए Compiler और Interpreter दोनों का ही इस्तेमाल करता है| जबकि C और C ++ language में केवल interpreter के द्वारा ही program execute हो जाता है|

कुछ programming language में Compiler और interpreter दोनों का काम लगभग same ही होता है लेकिन Compiler एक बार में पुरे information को convert करता है जबकि interpreter एक byte instruction को एक बार में execute करता है| लेकिन जावा programming language में सबसे पहले Compiler Program code (Source code) को Byte code में convert करता है जो की .class extension के form में होता है जिसे intermediate code या byte code कहा जाता है उसके बाद Interpreter के हेल्प के द्वारा Byte code instruction Machine code में convert होता है|

Machine code वैसा code होता  है जो की केवल उसी machine में run करेगा जिस machine में वह machine code generate हुआ है| जबकि जावा के द्वारा produce किया गया byte code किसी भी machine में execute हो सकता है लेकिन उस machine में जावा environment होना चाहिए मतलब की Java program को run कराने की facility उस machine में available होना चाहिए|

Platform Independent / Architecture Neutral

Platform Independent का मतलब होता  है की कोई भी चीज केवल एक ही platform पर depend ना हो मतलब की कोई भी program किसी भी platform पर run कर जाये|

जावा एक platform independent programming language है यह दुसरे programming language जैसे की C और C++ language की तरह नहीं है की जिस machine में program लिखा गया है केवल उसी machine में run होगा| जावा के program को आप किसी भी operating system में run करा सकते हैं क्योंकि जावा Write once, Run Anywhere language है|

Computer के क्षेत्र में दो प्रकार के platform होते हैं पहला Software based और दूसरा Hardware based. जावा software based platform provide करता है|

जावा के program को किसी भी operating system में run करा सकते हैं जैसे Windows, Mac/OS, Linux, Unix etc. जावा के program code सबसे पहले compiler के द्वारा compiled किया जाता है जिससे byte code produce होता है जिसे intermediate code भी कहा जाता है| यह byte code को आप किसी भी operating system में run करा सकते हैं लेकिन इसके लिए जावा environment होना जरुरी है|

बहुत सारे programming language platform dependent होते हैं मतलब की different operating system के लिए हमें different code लिखना पड़ता है लेकिन जावा programming language में ऐसा नहीं है क्योंकि यह Write once Read Anywhere (WORA) programming language है जिसमें हमें केवल एक ही बार programming code लिखना पड़ता है चाहे वह windows operating system हो या फिर Linux operating system.

जावा के byte code को आप किसी भी operating system, किसी भी processor में run करा सकते हैं इसके लिए आपको किसी भी code को change करने की जरुरत नहीं है|

Architectural Neutral का मतलब होता है की किसी भी चीज का size fixed होता है| जावा में सभी data types का size different operating system या different processor में भी fixed होता है| C programming में, 32 bit architecture के लिए int data type 2 bytes memory occupy करता है जबकि 64 bit architecture के लिए 4 bytes memory occupy करता है लेकिन जावा में ऐसा कुछ भी नहीं है that means जावा में 32 और 64 bit architecture के लिए 4 bytes memory occupy होता है किसी भी architecture के operating system में जावा के int data types के लिए 4 bytes ही memory occupy होता है ना ही किसी में कम और ना ही किसी में ज्यादा|

Object Oriented Programming Language

जावा एक object oriented programming language है मतलब की जावा program class और objects के concept को use करता है| जावा में सभी चीज object होता है|

Object oriented programming एक computer programming होता है जिसमें programmer को केवल data structure का data type ही define नहीं करना पड़ता है बल्कि उसके operations के बारे में भी बताना होता है|

दुसरे शब्दों में कहें तो Object oriented programming language वैसे programming language को कहा जाता है जिसमें class and object इस्तेमाल किया जाता है| Object oriented के कुछ basic concept होते है जैसे : –

  1. Class
  2. Object
  3. Polymorphism
  4. Inheritance
  5. Absraction
  6. Encapsulation

Robust

जावा programming language एक robust (मजबूत) language होता है क्योंकि इसके कुछ मुख्य reason होते हैं: जैसे

  • जावा के पास inbuilt exception handling feature होते हैं जो की program में आने वाले error को handle करता है और user को message show करता है की आपके program में कौन सा error available है|
  • इसके पास automatic garbage collection होता है जो की Java Virtual Machine में run होता है| इसका काम होता है जो की method और objects जावा program के द्वारा use नहीं हो रहे हैं उसे remove करता है|
  • यह strong memory management का इस्तेमाल करता है मतलब की जावा free memory को automatically deallocate कर देता है| जैसे बहुत सारे programming language में होता था की यदि आप कोई array बनाते हैं और उसका size 5 देते हैं तो वह array 5 x size of data type in byte में memory allocate करता था अगर उतना memory use भी नहीं हुआ तो भी allocate ही रहता था लेकिन जावा में जो फ्री memory होता है मतलब की जो memory use नहीं होता है उसे release कर दिया जाता है|
  • दुसरे programming language में pointer security break का सबसे बड़ा कारण होता था लेकिन जावा से explicit pointer को remove करके Security problem को remove कर दिया गया है|

Multi-threaded

Java multi-threaded programming language को सपोर्ट करता है| Multi-threaded का मतलब होता है की वैसा program जिसमें एक साथ एक से ज्यादा टास्क परफॉर्म हो रहा हो| जावा language में आप एक साथ एक से ज्यादा टास्क को perform करा सकते हैं| दुसरे टास्क को परफॉर्म कराने के लिए आपको पहले टास्क का खत्म होने का wait नहीं करना पड़ता है|

Multi-threaded का सबसे बड़ा फायदा यह है की यह सभी thread के लिए special memory occupy नहीं करता है मतलब की special memory space नहीं लेता है यह common memory area को share करता है जिसमें प्रत्येक thread अपना अपना टास्क store करते हैं|

Thread का मतलब होता है sub-program मतलब की एक program को जब एक से ज्यादा sub-program में divide किया जाता है या एक से ज्यादा पार्ट में divide किया जाता है उसे Thread कहा जाता है|

Distributed

जावा language platform independent होने के कारण यह network application को develop करने में काफी helpful होता है| जावा language distributed language होता है क्योंकि यह distributed application को design करने की facility provide करता है|

यह features multiple programmer को multiple location पर internet के द्वारा single project पर काम करने की facility provide करता है| एक programmer दुसरे programmer के programming code के files को उसके method calling के द्वारा access कर सकता है| जावा का यह features data और program दोनों ही चीज को share करने की क्षमता रखता है|

जब भी किसी भी company को बड़ा project पर काम करना होता है तो वह उस project को पार्ट by पार्ट सभी programmer और designers को बाँट देता है और फिर सबसे लास्ट में सभी की code को एक में merge करके उसके method को call कर देता है जिससे सारे function एक ही software में या एक ही application में काम करने लगते हैं|

Dynamic and Extensible

जावा nature के हिसाब से dynamic होता है जो की किसी भी नए class, libraries, methods, objects etc. को run time link करने की facility provide करता है| जावा language other programming language जैसे की C और C++ के functions को include करने की facility provide करता है मतलब की जरुरत के हिसाब से हम जावा program को run time extend कर सकते हैं that means run time नया functions या method को add कर सकते हैं जिसे Native method कहा जाता है और इसी प्रक्रिया को Extensible कहा जाता है|

Dynamic का मतलब होता है Run time कोई भी चीज को add करना या run time कुछ changement करना| जैसे आपने online कोई भी form fill-up किया होगा जो की dynamic web pages के category में आते हैं|

High Performance

जावा language दुसरे interpreted language की तुलना में सबसे faster होता है क्योंकि Java Byte code native code के “close” होता है और साथ ही साथ जावा byte code highly optimised होता है जिसके कारण यह other interpreted programming language की तुलना में faster होता है|

Java एक interpreted language होने के कारण यह compiled language जैसे की C और C++ के तुलना में थोडा slow होता है|

जैसा की हम सभी जानते हैं की जावा program code सबसे पहले compiler के द्वारा byte code में convert होता है जिसके बाद interpreter के द्वारा machine code में convert होता है| Byte code highly optimised होने के कारण बहुत fastly machine code में convert होता है|

Conclusion and Final Words

जावा के features (Features of Java) बहुत सारे हैं जो की जावा programming language को बेहतर बनाते हैं| Java programming में बनाया गया कोई भी software या web application का security बहुत ही ज्यादा high होता है इसलिए यह language user को पसंद आता है| आज के दिन में Oracle Corporation के अनुसार जावा 3 billions devices में उपयोग हो रहा है|

दोस्तों मैंने इस पोस्ट में बताया की जावा के features (Features of Java) कौन कौन से हैं? मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको बहुत ही पसंद आया होगा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ share करें और साथ ही साथ अपना feedback भी जरुर दें ताकि हमें अगला पोस्ट लिखने में मदद मिले| Thank you for visit Guptatreepoint blog.

Request: Friends! यदि Features of java के इस पोस्ट में आपको कोई भी content या कोई भी definition गलत लगता हो तो मुझे तुरंत इन्फॉर्म करें ताकि हम उसे सुधार सकें और आपके लिए बेहतर content provide कर सकें| धन्यवाद|

 

About the author

SUMIT KUMAR GUPTA

Myself Sumit Kumar Gupta. I am a programmer and blogger. I spend more time on programming and helps other programmers. I am a part-time blogger because I would like to become a Software developer.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.