difference JAVA

Difference Between C++ and Java in Hindi

Difference between C++ and Java
Written by guptatreepoint

Difference Between C++ and Java in Hindi – Java और C++ में अंतर? C++ vs Java. Hello Friends! How are you? Welcome again to Guptatreepoint blog. दोस्तों मैंने पिछले पोस्ट में बताया था की Features of java के बारे में लेकिन आज के इस पोस्ट में मैं आपको Difference Between C++ and Java in Hindi – Java और C++ में अंतर क्या है इसके बारे में जानकारी देंगे|

Difference Between C++ and Java in Hindi – Java और C++ में अंतर

दोस्तों जब भी Java को compare किया जाता है तो C ++ language से ही ज्यादातर compare किया जाता है क्योंकि Java language, C++ programming language के syntax को inherit करता है| लोग कहते हैं की जो व्यक्ति C और C++ के बारे में जानता है वह जावा programming language को आसानी से सीख सकता है|

जावा और C++ में बहुत सारे differences भी हैं और साथ ही साथ similarities भी हैं| लेकिन आज के इस पोस्ट में हम जावा और C++ के बीच कुछ top differences के बारे में जानेंगे (Difference Between C++ and Java in Hindi)

Comparison topicC++Java
Object OrientedC++ एक object oriented programming language है लेकिन यह पूरी तरह object oriented programming language नहीं है क्योंकि इसमें हम बिना class और object के भी program बना सकते हैं|Java एक Purely Object Oriented programming language है क्योंकि इसमें हम बिना class और object के कोई भी program नहीं बना सकते हैं|
Platform-IndependentC++ platform dependent programming language है क्योंकि एक computer में लिखे गए code को दुसरे Computer में Run नहीं करा सकते हैं|Java एक Platform Independent programming language है क्योंकि इसके byte code को हम किसी भी computer में run करा सकते हैं|
Goto StatementC++ programming language में Goto statement available है मतलब की C++ goto statement को support करता है|Java goto statement को सपोर्ट नहीं करता है|
Operator OverloadingC++ language Operator Overloading को support करता है|Java language operator overloading को support नहीं करता है|
Compiler and InterpreterC++ programming language में केवल compiler ही use होता है मतलब की C++ language में program code compiler के द्वारा Source code से Machine code में convert हो जाता है|Java language Compiler और Interpreter दोनों का ही use करता है| सबसे पहले java program code (source code) Compiler के द्वारा byte code में convert होता है उसके बाद Interpreter उस byte code को Machine code में convert करता है जो की Machine में execute होता है|
Multiple InheritanceC++ programming language Multiple inheritance को support करता है|Java language Class के द्वारा Multiple inheritance को support नहीं करता है| Java language में Multiple Inheritance Interface के द्वारा apply किया जाता है|
PointerC++ programming language में आप Pointer का इस्तेमाल करके program code लिख सकते हैं|Java language में Pointer internally support करता है| आज जावा language में अलग से pointer program नहीं लिख सकते हैं|
Structure and UnionC++ programming language Structure और Union के concept को support करता है|Java programming language structure और union के concept को support नहीं करता है|
Memory Allocation & DeallocationC++ language में memory allocate और Deallocate करवाने की Responsibility programmer की होती है|Java में memory management JVM के द्वारा होता है मतलब की इसमें Memory allocate और Deallocate automatic होता है|
Access SpecifierC++ में तीन access specifier होते हैं: Public, Private और ProtectedJava में चार Access specifier होते हैं: Public, Private, Protected और Default
Header fileC++ में Header File का concept available होता है|Java में Header file का concept available नहीं होता है| इसमें header file की जगह package होता है|
Virtual KeywordC++ में method को override करना है या नहीं इसके लिए Virtual Keyword available होता है मतलब की C++ Virtual keyword support करता है|Java में Virtual Keyword available नहीं होता है इसमें हम सभी non-static method को by default override कर सकते हैं| Non-static methods by default virtual होता है|
Call by value and Call by referenceC++ में Call by value और call by reference दोनों ही support होता है|Java केवल call by value को support करता है|
DestructorC++ Destructor को support करता है जो की memory को destroy करने का काम करता है|Java Destructor को support नहीं करता है क्योंकि इसमें automatic garbage collection available होता है|

Key Differences Between C++ and Java

C++ और Java में और बहुत सारे differences हैं| C++ एक general purpose programming language है जो की C language का extended form है| c++ language को Bjarne Stroustrup नें Bell labs में develop किया था| जो की 1979 में developing start हुआ था| सबसे पहले इसका नाम C with classes था लेकिन 1983 में इसका नाम C++ रखा गया| Java भी एक general purpose programming language है जो की C और C++ programming language के बहुत सारे syntax को inherit करता है| जावा language Sun Microsystem के द्वारा develop किया गया था जिसमें team के तौर पर तीन मेम्बर थे James Gosling, Patrick Naughton और Mike Sheridan. Java language पहली बार 23 मई 1995 को release हुआ था|

C++ में Virtual Keyword, Operator overloading, Friend keyword, Typedef Keyword इस्तेमाल होते हैं जबकि जावा में ये सभी keyword इस्तेमाल नहीं होता है मतलब की जावा in सभी keyword को सपोर्ट नहीं करता है|

Conclusion and Final Words

C++ और Java में तो आपको बहुत सारे differences और similarities मिल जायेंगे लेकिन मैंने इस पोस्ट में कुछ ही differences के बारे में बताया है| Difference between C++ and Java. C++ programming language के अपेक्षा जावा बहुत ज्यादा secure programming language है| C++ programming language system और application programming के लिए develop किया गया था जबकि Java को शुरू में Printing system के लिए interpreter के जैसा create किया गया था|

दोस्तों मैंने इस पोस्ट में C++ और Java के बारे में कुछ differences बताये हैं? Difference between C++ and java? मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको बहुत ही पसंद आया होगा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर share करें और साथ ही साथ अपना feedback भी जरुर दें| Thank you for visit Guptatreepoint blog.

offer

Request: यदि आपको लगता है की इस पोस्ट में provide किया गया content में कोई गलती है तो आप मुझे तुरंत इन्फॉर्म करें मैं उस गलती को सुधारने का प्रयास करूँगा| धन्यवाद|

 

About the author

guptatreepoint

Myself Sumit Kumar Gupta. I am a programmer and blogger. I spend more time on programming and helps other programmers. I am a part-time blogger because I would like to become a Software developer.

Leave a Comment