सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी कौन है बेहतर - Government job vs Private job
career

सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी कौन है बेहतर – Government job vs Private job

सरकारी नौकरी अपनी जगह बेहतर है और प्राइवेट नौकरी अपनी जगह बेहतर है

सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी कौन है बेहतर – Government job vs Private job. आज के दिन में अधिकांश student सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी को लेकर के confuse रहते हैं और इसका सबसे मुख्य वजह है हमारे भारत देश के पुराने लोगो की सोच| सभी लोग सोचते हैं की सरकारी नौकरी मिल जाने के बाद आरामदायक जिन्दगी जिया जा सकता है लेकिन ऐसा कुछ नहीं है| जैसा की कहावत है की आलस बुरी बला है, कभी भी इंसान को आलस नहीं करना चाहिए|

आज से कुछ साल पहले तक सरकारी नौकरी आरामदायक जॉब था लेकिन अब धीरे धीरे हर नागरिक जागरूक होते जा रहा है जिसके कारण सरकारी कर्मचारी को हर बात का जवाब देना पड़ता है जो की अब इस जॉब को आरामदायक कहना ठीक नहीं है| हाँ ये है की ये जॉब पूरी तरह से secure होता है जो की सबसे बड़ा फायदा होता है|

आज हम आपको सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी दोनों ही नौकरी के बारे में फायदे और नुकसान बतायेंगे जिससे आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं की दोनों में से कौन सा जॉब बेहतर है|

सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी – Government job and private job

आज के दिन में सरकारी नौकरी में बहुत ज्यादा competition हो चूका है क्योंकि करोड़ो युवा सरकारी जॉब की तैयारी कर रहे हैं और हर कोई चाहता है की उन्हें सरकारी जॉब मिल जाये लेकिन ये सभी के लिए मुमकिन नहीं है|

दोनों ही जॉब के अपने अपने फायदे होते हैं| कुछ लोगो का कहना होता है की अगर सरकारी जॉब मिल जाये तो फिर जिन्दगी मौज से कटेगी लेकिन पिछले कुछ सालो से सरकारी नौकरी करने वाले कर्मचारी पर भी काम का बहुत ज्यादा बोझ रहने लगा है इसलिए सब कोई टेंशन में रहने लगे हैं|

एक खुशहाल जिन्दगी जीने के लिए सबसे पहले आपको अपने दिल की सुननी होगी क्योंकि कोई भी नौकरी खराब नहीं होती जब तक की उसे उसके नजरिये से ना देखें| जरा सोचिये आज के दिन में हर माता पिता अपने बच्चे को प्राइवेट school में पढ़ाना चाहते हैं क्यों क्योंकि private sector में हमें बेहतर रिजल्ट मिलता है लेकिन अगर कोई teacher private स्कूल में नहीं पढ़ाना चाहे तो क्या होगा आपके बच्चे को सरकारी स्कूल में ही भेजना होगा जहाँ आप नहीं भेजना चाहते हैं|

वही एक तरफ देखा जाए तो आज बड़े बड़े अफसर अपने बच्चो को सरकारी स्कूल में पढने के लिए भेज रहे हैं जिससे की स्कूल के शिक्षक पर अच्छी quality का education देने का दबाव बन रहा है जिसके कारण गरीब लोग के बच्चे भी अच्छी शिक्षा पा रहे हैं|

जब तक कोई बच्चा अपने से नहीं पढ़ना चाहे तो उसके लिए private school भी एक सरकारी स्कूल के बराबर है| मैं खुद एक Senior software developer हूँ और एक private software company में जॉब करता हूँ| मैं हमेशा से सरकारी स्कूल में पढ़ा क्योंकि मेरी family middle family से belong करती थी|मेरी family हमेशा से यही चाहती थी की हम सरकारी जॉब करें लेकिन मुझे private sector में काम करना बहुत पसंद है| इसलिए आज मैं आपको दोनों ही जॉब के फायदे और नुकसान के बारे में बताऊंगा जिससे आप ये खुद अंदाजा लगा सकते हैं की आपके लिए कौन सा जॉब बेहतर है|

सरकारी नौकरी के फायदे:

Job Security: हमारे भारत देश में सरकारी जॉब को सबसे ज्यादा secure माना जाता है क्योंकि इसमें हमें एक Fixed समय तक के लिए जॉब मिल जाता है जिससे हमें कोई निकाल नहीं सकता है इसलिए इसमें हमारे जॉब जाने की कोई chance नहीं होती है|

Salary: सरकारी नौकरी के लोगो को बेहतर सैलरी दी जाती है चाहे वह छोटा पद पर ही क्यों ना हो इसलिए लोग सरकारी नौकरी का रुख अपनाना चाहते हैं| सरकारी नौकरी में हर कर्मचारी का सैलरी समय समय पर बढ़ते रहता है जो की सबसे अच्छा option होता है|

Working Hour: Government job में working hour बहुत ही कम होता है और जैसे ही आपका working hour खत्म होता है आप office छोड़ सकते हैं आपको बोलने वाला कोई नहीं होता है| हमारे भारत देश में अधिकांश युवा working hour के लिए ही Government job को select करते हैं| Working hour कम होने के कारण tension भी कम होता है|

Holidays: छुटियाँ तो हर कोई मनाना चाहता है| सरकारी जॉब वाले को calendar के अनुसार हर holiday को छुट्टी दी जाती है लेकिन सरकारी जॉब में कुछ ऐसे भी category होते हैं जिन्हें की हर holiday को छुट्टियाँ नहीं मिलती है|

Promotion और benefits: सरकारी जॉब में हर किसी को एक निश्चित समय पर promotion मिलता है जिससे की उनकी income ज्यादा होती है और सरकारी जॉब में कई प्रकार के benefits भी मिलते हैं जैसे की रेलवे कर्मचारी को रेल टिकट free|

Status: सरकारी जॉब वालो का भले ही income कम हो लेकिन उनका एक status होता है हर कोई कहता है की हाँ ये लड़का / लडकी सरकारी जॉब करता / करती है| या यूँ कहें की हमारे समाज में एक प्रकार से मान बढ़ता है|

Leave: Holidays के अलावा Government job में हर महीने leave मिलती है जिसे आप आसानी से enjoy कर सकते हैं| कई Government employees हर महीने leave नहीं लेते हैं वे अपने leave को बचाते हैं ताकि किसी पर्व त्यौहार में या फिर घर के functions के समय लिया जा सके|

Private नौकरी के फायदे:

सरकारी नौकरी के तुलना में private नौकरी के भी अपने फायदे हैं जिसे जानने के बाद शायद आप भी private जॉब करना चाहेंगे| हालाँकि private जॉब करने के लिए आपके पास knowledge होना बहुत जरुरी है बिना knowledge के private जॉब कर पाना मुश्किल है|

Promotion based on your knowledge: Private job में आपके knowledge और performance के ऊपर promotion depend करता है| इसमें कोई fixed time limit नहीं होता है| अगर आप एक महीने में ही कंपनी को अच्छे performance दिखा दिए तो कंपनी तुरंत आपको promote कर देगा साथ ही साथ आपकी सैलरी भी increase हो जाएगी|

Better facilities: इस sector में office जॉब में सरकारी जॉब की तुलना में बेहतर facility मिलती है जैसे की खाना, रहना, गाड़ी का किराया इत्यादी free| इसके साथ साथ office environment बहुत ही अच्छा रहता है| अगर आप office work करते हैं तो आपको AC की facility मिल सकती है| हालाँकि बहुत सारी कंपनियां ये facility provide नहीं करती है|

Company jump: इसमें आप जब चाहे तब कंपनी को छोड़कर के उससे अच्छी कंपनी join कर सकते हैं| और हर private कंपनी में पिछले जॉब के अनुसार आपकी सैलरी decide की जाती है| अधिकांश कंपनी आपके पिछले सैलरी से ज्यादा ही सैलरी provide करती है|

Work outside from country: भारत देश के कई सारे लोग ऐसे हैं जो विदेश में रहकर के अच्छे पैसे कमा रहे हैं क्योंकि भारत देश की तुलना में विदेश में ज्यादा पैसे मिलते हैं| Private job में रहकर के आप विदेश में जॉब कर सकते हैं और साथ ही साथ अपने विदेश घुमने का सपना भी पूरा कर सकते हैं|

Entrepreneurship: हमारे देश में जॉब create करने वालो की बहुत ही कमी है| हर एक इंसान को जॉब खोजने वाला से अच्छा जॉब देने वाला बनना चाहिए जिससे की उसके साथ साथ देश का भी development होगा| Private sector में जॉब करने वाले कई लोग ऐसे हैं जो कुछ नया नया चीज develop करके अपना business खोल लेते हैं|

Unlimited income: Private sector में आपके knowledge के base पर आपको जॉब मिलती है और इस क्षेत्र में काम करते करते बहुत अच्छा अनुभव होने के बाद अच्छा knowledge भी प्राप्त हो जाता है जिससे आप छोटी मोटी part time कोई work कर सकते हैं जिससे income की कोई सिमित सीमा नहीं है| जितना आप सरकारी जॉब में पूरी जिन्दगी नहीं कमा पाएंगे उतना private जॉब में आप कुछ ही सालो में कमा लेंगे|

Leave और holiday: कई सारे private कंपनियाँ ऐसी हैं जो calendar के अनुसार आपको holiday provide करती है और साथ ही साथ monthly leave भी provide किया जाता है लेकिन कुछ कंपनियाँ ये provide नहीं करती जिसके कारण private sector में leave और holiday को कुछ खास नहीं माना जाता है|

नए नए चीजे सीखना: प्राइवेट sector में हमेशा नयी नयी चीजे सीखने को मिलती है जो की काफी interesting लगती है| किसी महान पुरुष ने कहा है की जब तक आप सीखते रहेंगे तब तक आप आगे बढ़ते रहेंगे इसलिए हर इंसान को अपने जीवन में हमेशा कुछ न कुछ सीखना ही चाहिए|

No of jobs: Government sector की तुलना में private sector में बहुत ज्यादा जॉब उत्पन्न होते हैं इसमें जॉब की कमी ना के बराबर होती है| कभी कभी इस sector में इतनी जॉब उत्पन्न होती है की उतने employees नहीं मिल पाते हैं उसका मुख्य वजह है स्कूल और कॉलेज में प्रैक्टिकल knowledge नहीं देना| हर school और college theoretical knowledge देता है जबकि practical knowledge ना के बराबर देता है जिसके कारण students का skill develop नहीं हो पाता है|

Fast result: Private sector में आप आज interview दिए आपको एक से दो दिन के अन्दर रिजल्ट मिल जाता है| कोई कोई कंपनी तो आपको तुरंत रिजल्ट दे देती है और private sector के interview उतने भी कठिन नहीं होते हैं जितने की सरकारी जॉब के exam होते हैं|

हमने अब तक सरकारी जॉब और प्राइवेट जॉब के फायदे के बारे में देखा जिसमें की बहुत सारे फायदे देखने को मिलें लेकिन अब हमें दोनों के नुकसान भी देखने होंगे जिसके बाद ही हम दोनों जॉब में difference पता कर सकते हैं|

सरकारी जॉब के नुकसान:

अधिकतर सरकारी जॉब में बहुत ज्यादा नुकसान होता है चलिए जानते हैं कुछ नुकसान के बारे में|

Personal safety: Government sector में कई ऐसे fields होते हैं जिसमें आपके जान को हमेशा खतरा रहता है| कई बार Government officers को ऐसे रास्ते से होकर के गुजरना पड़ता है जहाँ पर उनकी जान को बहुत खतरा होता है|

Unwanted transfer: कई बार Government officer को ऐसे जगह transfer कर दिया जाता है जहाँ पर वो रहना पसंद नहीं करते हैं| कई Government officer ऐसे होते हैं जो की हमेशा से शहर में पले बढे होते हैं लेकिन अगर उनका transfer कही गाँव में कर दिया जाता है तो वो वहां पर रहना पसंद नहीं करते हैं|

Job changement: Government जॉब आप बिना किसी खास reason के नहीं छोड़ सकते हैं और अगर आप दूसरा जॉब change भी करना चाहे तो आपको फिर से कठिन परीक्षा देना होता है जिसका रिजल्ट process सालो लग जाते हैं इसलिए Government job में जॉब change करना आसान नहीं होता है|

Late result: कई सारे Government के ऐसे exam होते हैं जिनके रिजल्ट बहुत लेट से आते हैं जिसके कारण कई students बैठे रह जाते हैं|

Personal development: सरकारी नौकरी मिलने के बाद इंसान बेफिक्र हो जाता है और मस्ती से जॉब करने में लगा रहता है जबकि private sector के युवा हमेशा कुछ न कुछ नया खोजने में लगे होते हैं| आपने शायद ही ये सुना होगा की सरकारी नौकरी करने वाला युवा एक कंपनी का मालिक बना या नया आईडिया लेकर कंपनी खोला लेकिन private sector के लोग हमेशा नए नए startup के तौर पर कंपनी खोलते रहते हैं जैसे OYO, Swiggy, Zomato, Flipkart etc. Government sector में जॉब करने वाला employee बस काम करता है और पैसा लेना जनता है, वो अपने अन्दर छुपे टैलेंट को बाहर नहीं निकाल पाता है जिससे की उसका personal development नहीं हो पाता है|

Private job के नुकसान

घर परिवार में इज्जत ना मिलना: मान लीजिये एक ही घर में दो बेटे हैं और एक सरकारी जॉब करता है और दूसरा private तो सबसे ज्यादा इज्जत सरकारी जॉब वालो को मिलेगी| घर परिवार के अलावा भारत देश में रिश्तेदारों में इज्जत होना सबसे बड़ी बात होती है और रिश्तेदार भी सरकारी जॉब वाले को ज्यादा value देते हैं|

Job खोने का डर: Private job में आपको जॉब सुरक्षित नहीं होती है अगर आपके पास knowledge की कमी हुयी तो आपको जॉब से निकाल दिया जाता है| इसमें अगर आपकी दिमागी हालत थोड़ी सी भी खराब हुयी तो जॉब से निकल दिया जाता है लेकिन फिर भी कुछ कुछ कंपनियां आपको ठीक होने तक का समय देती है|

Work pressure: Private sector work पर ही टिका हुआ है अगर आप private sector में काम नहीं करेंगे तो आपको कोई value नहीं है| Private field में आपके seniors work pressure देते रहते हैं|

Working hour: कभी कभी काम ज्यादा होने के कारण आपको office में लेट रुकना पड़ सकता है जो की काफी लोगो को पसंद नहीं होता है| पसंद नहीं होने का सबसे मुख्य वजह होता है अकेले या फिर कुछ ही साथी के साथ रुकना क्योंकि अधिकांश लोग घर जा चुके होते हैं|

Conclusion and Advice

कई लोग सरकारी जॉब करते हैं तो उन्हें लगता है की private जॉब better है और कई लोग private जॉब करते हैं तो उन्हें लगता है की Government job better है लेकिन ऐसा कुछ नहीं है, आपके पास जो है उसी में अगर आप खुश हैं तो हमारी मानिए आपके लिए सरकारी जॉब और private जॉब दोनों ही एक समान है|

हर इंसान को उस चीज से खुश रहना चाहिए जो उसके पास है| हर अमीर आदमी सोचता है की काश हम गरीब होते तो गाँव में सबके साथ मस्त जिन्दगी बिताते और हर गरीब सोचता है की हम अमीर होते तो खूब मजे से जिन्दगी बिताते लेकिन जो जिसके पास है अगर वो उस में खुश रहने लगे तो वाकई जिन्दगी बहुत खुशहाल हो जाएगी|

यदि आप सरकारी नौकरी और प्राइवेट नौकरी को लेकर के confusion में हैं तो एक बार अपने दिल पर हाथ रख के जरुर सोचे और ये सोचे की आपको ख़ुशी किस काम में मिलती है और उसी काम को करके अपने जिन्दगी को खुशहाल बनाएं|

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

4 Comments

  • सर आपकी Writting Skill बहुत अच्छी है आप हमेशा ज्ञानवर्धक जानकारी देते है मै आपकी daily Reader हूँ

  • सर आप बहुत अच्छा लिखते है मै आपकी Daily Reader हूँ आप हमेशा बहुत ही ज्ञान वर्धक जानकारिय शेयर करते है …सर आपका बहुत बहुत धन्यवाद !