Laptop क्या होता है? Laptop के क्या फायदे हैं? Laptop का इस्तेमाल
Basic-Computer

Laptop क्या होता है? Laptop के क्या फायदे हैं? Laptop का इस्तेमाल

आज के दिन में लगभग हर घर में laptop होता है लेकिन जब हमें laptop का definition बोलना होता है तो हम भूल जाते हैं| हर चीज का definition उसी में छिपा हुआ होता है|

आज के दिन में लगभग हर घर में laptop होता ही होता है क्योंकि इसे कहीं भी ले जाना आसान होता है और इसे ज्यादा power की जरुरत भी नहीं पड़ती| आज के इस tutorial में हम जानेंगे की laptop क्या होता है या किसे कहते हैं? इसके क्या क्या फायदे हैं? इस tutorial में हम laptop के बारे में बहुत ही आसान शब्दों में समझेंगे|

Laptop क्या होता है?

Laptop को Notebook या Laptop computer के नाम से भी जाना जाता है| यह एक small और portable personal computer होता है जिसमें एक screen, attached keyboard और एक trackpad या trackball (जो की mouse का कार्य करता है) होता है| इसे portability purpose से बनाया गया है ताकि इसे एक जगह से दूसरे जगह आसानी से ले जाया जा सके|

जैसा की मैंने बताया की इसे portability purpose से बनाया गया है इसलिए इसमें एक battery भी मौजूद रहता है जो की बिना power के कार्य करने की facility provide करता है| इसे एक power adapter भी होता है जिसके द्वारा हम laptop के battery को चार्ज कर सकते हैं|

Laptop सभी input/output device के combination से बनाया जाता है और इसमें desktop computer के जितना capabilities भी add किये जाते हैं जैसे की इसमें display screen, keyboard, trackpad or trackball (pointing device), speaker, microphone, data storage device, processor, memory और battery added होते हैं| आजकल के laptop में webcam, WiFi, USB Ports और touch screen facility भी provide किये जाते हैं| यह internal battery या external power supply के द्वारा चलता है|

Laptop को हिंदी में लैपटॉप ही कहा जाता है लेकिन इसका हिंदी meaning “बंधा हुआ” भी होता है जिसका मतलब होता है सारे इनपुट और output device को मिलाकर के एक नया device तैयार करना|

Technical terms में हम बोल सकते हैं की यह एक portable (ले जाने योग्य) device होता है जो की बहुत सारे input और output device के combination से बना हुआ होता है| Desktop computer के सारे features इस device में मौजूद होते हैं और इसे छोटा होने के कारण एक जगह से दूसरे जगह आसानी से ले जाया जा सकता है|

लैपटॉप का उपयोग – Use of Laptop

आज के दिन में इसका उपयोग लगभग हर जगह पर किया जाता है जहाँ पर desktop computer का इस्तेमाल किया जाता था| लेकिन आज भी बड़ी बड़ी कंपनियां desktop computer का इस्तेमाल करती हैं क्योंकि वह laptop के अपेक्षा fast work करता है और उसे roughly use किया जा सकता है|

लैपटॉप का उपयोग निम्नलिखित जगहों पर किया जाता है| आइये विस्तार में जानते हैं:

Education में

आज के digital युग में, हर किसी को पढने के लिए एक computer की आवश्यकता होती ही होती है और ऐसे में हर कोई यही चाहता है की कोई ऐसा device लिया जाए जिसे कहीं ले जाने में भी दिक्कत ना हो और साथ ही साथ उसे रखने में ज्यादा space भी consume ना हो|

Education के क्षेत्र में computer की पढाई लगभग हर स्कूल में जरुरी हो गया है क्योंकि हर किसी को computer चलाने आना ही चाहिए| इसका मुख्य वजह है digital India. आज के समय में हर काम online होता है और इसके लिए हम मोबाइल का इस्तेमाल तो कर सकते हैं लेकिन उसका screen ज्यादा बड़ा नहीं होने के कारण हमें एक ऐसे device की जरुरत पड़ती है जो की मोबाइल की तरह ही portable हो| उसके बाद हम लैपटॉप को select करते हैं|

Company में

कई startup कंपनियों के पास ज्यादा space नहीं होता है इसलिए वे कम जगह में ज्यादा employees को बैठाने की कोशिश करते हैं और साथ ही साथ छोटे कंपनियाँ अपने बढ़ते employees के अनुसार जगह बदलते हैं तो वैसे situation में वे चाहते हैं कि छोटा device रखा जाये जिसे carry करने में आसान हो|

अलग अलग प्रकार के कंपनी में लैपटॉप का इस्तेमाल अलग अलग purpose से किया जाता है जैसे की IT company में software बनाने के लिए|

Bank में

बैंक में अभी भी desktop computer का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि उसे roughly इस्तेमाल करना आसान होता है लेकिन वहीँ laptop को हम जैसे तैसे इस्तेमाल नहीं कर सकते| परन्तु बैंक में बड़े बड़े अधिकारीयों के पास laptop दिया जाता है ताकि वे अपना कार्य किसी दूसरे जगह से भी कर सकें|

इसके अलावा Laptop का इस्तेमाल और भी कई जगहों पर किया जाता है जैसे की Hospital में, छोटे बड़े दुकानों में|

Laptop के क्या क्या फायदे हैं?

Laptop इस्तेमाल करने के कुछ फायदे भी हैं और कुछ नुकसान भी हैं चलिए सबसे पहले इसके फायदे के बारे में जानते हैं की आखिर हमें क्यों desktop computer की जगह लैपटॉप खरीदना चाहिए|

एक जगह से दूसरे जगह ले जाना:

आज के दिन में हर किसी का जॉब एक जगह से दूसरे जगह shift होना आम बात है और ऐसे में जब इंसान अपनी जॉब शिफ्ट करता है तो उसे अपने सारी जरुरत की चीजे भी ले जानी पड़ती है| ऐसे स्थिति में लैपटॉप को एक जगह से दूसरे जगह ले जाना बहुत ही आसान होता है क्योंकि यह छोटा होने के साथ साथ हल्का भी होता है|

बिना बिजली के इस्तेमाल करना

कई ऐसे जगह हमें जाना पड़ता है जहाँ पर घंटो बिजली (light) नहीं रहती है और ऐसे situation में अगर हमें कोई important काम online करना पड़ जाय तो हम desktop computer से नहीं कर पाते हैं जबकि लैपटॉप में internal battery होने के कारण उसे हम कुछ घंटो तक बिना बिजली के इस्तेमाल कर सकते हैं|

Space बचाने में

यह छोटा होने के कारण बहुत ही कम space लेता है जिससे हम इस device को घर में कही पर भी रख सकते यहाँ तक की इसे अपने bed पर भी रख के इस्तेमाल कर सकते हैं| इससे हमारे घर में काफी space बच जायेगा|

Weight

Desktop computer के complete setup की तुलना में लैपटॉप बहुत ही छोटा और बहुत ही कम वजन का होता है जिसे ढोने के लिए एक बैग काफी होता है| इसके वजन कम होने के कारण इसे हम कंधो पर भी एक जगह से दूसरे जगह ले जा सकते हैं|

History of Laptop – लैपटॉप का इतिहास

Personal portable information manipulator (Laptop computer) का idea Alan Kay को 1968 में तब आया जब वे Xerox PARC में काम कर रहे थें| Alan Kay एक American computer scientist हैं और PARC एक american research और development कंपनी है| सबसे पहला portable computer ( PC) IBM 5100 था जिसे की सितम्बर 1975 में commercial purpose के लिए available किया गया| इसका वजन 55-pounds (लगभग 25 KG) था और इसमें 5 inch CRT display, tape drive, 1.9 MHz PALM Processor और 64 KB RAM था|

निचे दिए गए image में Alan Kay 2008 में अपने Dynabook concept के एक demo machine को पकडे हुए हैं| यह image Wikipedia से ली गयी है जिसका मैं credit Wikipedia और Flicker को जाता है| image source

Alan Kay and Dynabook

सही तरीके से पहला portable computer or laptop April, 1981 में release किया गया था जो की Adam Osborne के द्वारा बनाया गया था इसलिए इसका नाम Osborne I रखा गया| इसका weight 24.5 pounds था और इसमें 5-inch display, 64 KB memory, two 5 1/4″ floppy drives, CP/M 2.2 operating system था| इसमें एक modem भी शामिल था जिसका price लगभग 1795 dollar था|

इन सबका वजन बहुत ज्यादा था इसलिए IBM PCD (PC Division) ने 1984 में IBM portable release किया जिसका वजन 30-pounds था| उसके बाद 1986 मे, IBM ने एक और portable computer बनाया जिसका वजन 12-Pounds था| Finally, IBM ने 1994 में IBM ThinkPad 775CD introduced किया जो की first notebook था जिसमें CD-ROM integrated था|

Conclusion and Final Words

आज के समय में लगभग अधिकांश लोगो के घर में laptop होता है लेकिन अगर उन्हें laptop के बारे में कुछ समय तक बोलने के लिए कह दिया जाय तो वे confuse हो जाते हैं| मैं खुद ही एक interview में laptop के बारे में ज्यादा नहीं बोल पाया था क्योंकि उस समय दिमाग में कुछ नहीं आ रहा था|

छोटी छोटी basic चीजो के बारे में हमें जानकारी होनी चाहिए जिससे की हम कभी भी किसी को भी information provide कर सकें| मुझे उम्मीद है की अब आप laptop के बारे में कुछ समय तक आसानी से बोल पाएंगे|

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.