Computer Network क्या है - Computer Network कितने प्रकार के होते हैं
Networking

Computer Network क्या है – Computer Network कितने प्रकार के होते हैं

Computer Network क्या है – Computer Network कितने प्रकार के होते हैं? What is Computer Network in Hindi and Types of Computer Network in Hindi? जब एक या एक से अधिक Computer को किसी भी Medium के द्वारा जैसे की Wired और Wireless के माध्यम से connect करते हैं तो उसे Computer Network कहा जाता है| किसी भी Network का काम information को एक जगह से दुसरे जगह पर exchange करने के लिए होता है|

सबसे पहले हमारे पास Information को एक जगह से दुसरे जगह भेजने के लिए एक कबूतर होता था और उसके बाद Postman (डाकिया) वाला system आया, लेकिन इन सभी माध्यम से Information को एक जगह से दुसरे जगह Send और Receive करने में बहुत देरी होती थी जिससे की Important information समय पर नहीं पहुँच पाता था और लोगो के बहुत सारे काम बहुत पीछे छुट जाते थे|

पर अब हमारे पास ऐसा system आ चूका है जिससे हम एक जगह से दुसरे जगह पर information को seconds के अन्दर भेज सकते हैं जो की हमारे Important information को time पर पहुंचा देता है| तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम Computer Network के बारे में बात करेंगे की आखिर यह क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं| Hello Friends! Welcome again to Guptatreepoint blog. Let’s see What is Computer Network in Hindi?

Computer Network क्या होता है – What is Computer Network in Hindi?

Computer Network को data Network भी कहा जाता है| यह बहुत सारे computer devices और other computing hardware devices का group होता है जो की एक दुसरे से किसी भी Communication channel  (जैसे की Wired : Fiber Optic cable, Wireless : WiFi) के माध्यम से Linked होकर या Connect होकर Communication या Resource Sharing (जैसे की Hard disk sharing, CPU sharing) करने का काम करते हैं, उसे Computer Network या Data Network कहा जाता है|

दुसरे और आसान शब्दों में कहें तो, जब दो या दो से अधिक Computing devices एक दुसरे से Data sharing या Resource sharing करने के purpose से connect होते हैं उसे Computer Network कहा जाता है| Computer Network को Hardware और Software के Combination से बनाया जाता है|

वैसे Network computer devices जो की data को send करने के लिए उत्पन्न करते हैं मतलब की Create करते हैं, Root करते हैं मतलब की रास्ता दिखाते हैं और Receive करते हैं मलतब की उत्पन्न डाटा को नेटवर्क से समाप्त करने का काम करते हैं उसे Network Nodes कहा जाता है| ये nodes किसी भी प्रकार के device हो सकते हैं जैसे की Personal Computer (PC), Mobile Phone / Smart phone, servers और अन्य Networking hardware devices.

जब दो device एक दुसरे के साथ connect होते हैं और कोई एक device data share करने के लिए able होता है तब उस समय हम उस device को भी networked device बोल सकते हैं| जैसे की जब आप एक mobile को Bluetooth के द्वारा दुसरे mobile से connect करते हैं तब उनमें से कोई भी एक mobile दोनों के बीच data share करने में सक्षम होता है तब उस mobile को Networked device कहा जाता है|

आपने शायद Computer नेटवर्क का बहुत सारा example देखा होगा लेकिन शायद ही आपको याद होगा, यदि आपको याद नहीं आ रहा है तो चलिए मैं आपको एक example देकर बताता हूँ| आपने बड़े बड़े Institute में, या फिर Internet cafe में देखा होगा की एक ही Printer रहता है और वह सारे computers से connected होता है मतलब की सभी computer के द्वारा हम उस printer को print करने का task दे सकते हैं, तब उसी को computer नेटवर्क कहा जाता है|

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार (Types of Computer Network in Hindi)

अलग अलग Region और area के अनुसार बहुत सारे कंप्यूटर नेटवर्क होते हैं, एक कंप्यूटर नेटवर्क छोटे से कमरे से शुरू होता है जो की पुरे वर्ल्ड तक को connect करता है लेकिन छोटे और बड़े areas को connect करने के लिए अलग अलग नेटवर्क बनाये गए हैं| तो चलिए हम देखते हैं की कंप्यूटर नेटवर्क कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों Generally कंप्यूटर नेटवर्क तीन प्रकार के ही होते हैं LAN, MAN and WAN. लेकिन इसके अलावा भी बहुत सारे कंप्यूटर नेटवर्क available हैं तो चलिए हम सभी प्रकार के computer नेटवर्क के बारे में जानेंगे|

  1. LAN (Local Area Network)
  2. MAN (Metropolitan Area Network)
  3. WAN (Wide Area Network)
  4. WLAN (Wireless Local Area Network)
  5. PAN (Personal Area Network)
  6. CAN (Campus Area Network, Controller Area Network, Cluster Area Network)
  7. SAN (Storage Area Network, System Area Network, Server Area Network, Small Area Network)

1. LAN (Local Area Network)

LAN का फुल फॉर्म “Local Area Network” होता है और जैसा की नाम से पता चल रहा है की यह local computers को connect करने का काम करता होगा| जी हाँ दोस्तों, यह नेटवर्क Short distance में Network devices को connect करने का काम करता है| LAN का इस्तेमाल छोटे छोटे बिल्डिंग्स, schools, घर, office इत्यादि में किया जाता है| एक बिल्डिंग्स में छोटे छोटे LAN इस्तेमाल होते हैं हालाँकि कभी कभी बगल वाले बिल्डिंग्स के नेटवर्क devices को connect करने के लिए भी LAN का इस्तेमाल होता है, सीधा शब्दों में कहें तो यह short distance में Network devices को connect करने के लिए इस्तेमाल होता है|

इस नेटवर्क को किसी एक person या किसी एक organization के द्वारा manage किया जाता है या उपयोग किया जाता है| LAN को WiFi या Ethernet के द्वारा enable किया जा सकता है| जब आप अपने WiFi connection किसी और के साथ share करते हैं तो यहाँ पर भी LAN enable होता है|

LAN के फायदे – Advantages of LAN in Hindi:

  • इसके द्वारा आप एक office या building में किसी एक resource जैसे की printer को बहुत सारे computer के साथ attach कर सकते हैं|
  • Connected computers के बीच Electronic Message (E-Mail) भेजा जा सकता है|
  • एक computer के द्वारा सभी connected devices को manage किया जा सकता है|
  • इसके data transfer स्पीड ज्यादा होता है|
  • इसको install करने में ज्यादा खर्चा नहीं आएगा|

2. MAN (Metropolitan Area Network)

MAN का फुल फॉर्म “Metropolitan Area Network” होता है| यह network LAN से कुछ ज्यादा area और WAN से कुछ कम area को connect करने का काम करता है| इसके द्वारा एक CITY (शहर) को connect किया जा सकता है| एक MAN नेटवर्क बहुत सारे LAN को मिलकर के बनाया जाता है|

इसका इस्तेमाल एक शहर के अन्दर high Speed से डाटा को transfer करने के लिए होता है| इसका बेस्ट example है: Cable TV. cable TV एक शहर के बीच स्थित रहता है और वहां से अपना cable पुरे शहर में फैलता है और user उस cable के द्वारा उसके service को इस्तेमाल करते हैं|

MAN के फायदे – Advantages of MAN

  • यह LAN के अपेक्षा ज्यादा network devices को connect कर सकता है|
  • इसका Range LAN के अपेक्षा ज्यादा होता है|
  • एक Network operating devices के द्वारा पुरे शहर के Networking devices को manage किया जा सकता है|

3. WAN (Wide Area Network)

WAN का फुल फॉर्म “Wide Area Network” होता है| यह बहुत सारे LAN का collection होता है जिसका Range LAN और MAN के अपेक्षा काफी ज्यादा होता है| यह एक शहर को या एक देश को या फिर देश विदेश को जोड़ने का काम करता है| यह नेटवर्क बहुत सारे similar network को connect करता है जैसे की बहुत सारे LAN और MAN को,

इसका सबसे best example है: Internet, इस नेटवर्क के द्वारा लोग एक जगह से या एक computer पुरे दुनिया में कहीं पर भी रखे गए computers या users से connect हो सकते हैं| यह Public transmission system या फिर Private network के द्वारा implement किया जाता है|

WAN के फायदे – Advantages of WAN

  • यह पुरे विश्व को जोड़ने का काम करता है मतलब की इसके द्वारा हम पुरे विश्व के networking device से connect हो सकते हैं|

4. WLAN (Wireless Local Area Network)

WLAN का फुल फॉर्म “Wireless Local Area Network” होता है| Wireless का मतलब होता है की बिना तार के यानि की बिना wire के| Wireless LAN दो या दो से अधिक computers या networking devices को एक छोटे से area में जैसे की घर, ऑफिस में बिना wire के connect करने की facility provide करता है| जैसे यदि हम किसी भी WiFi से अपने Networking device को connect करते हैं तो वो एक Wireless LAN है|

WLAN को LAWN (Local Area Wireless Network) भी कहा जाता है| यह LAN की तरह ही काम करता है लेकिन इसमें केवल Wire नहीं होते मतलब की बिना wire के काम करता है| यह Radio wave के base पर काम करता है|

5. PAN( Personal Area Network)

PAN का फुल फॉर्म “Personal Area Network” होता है| यह एक computer network होता है जो की personal यानि की किसी एक person के work-space को connect करने का काम करता है| PAN बहुत सारे Networking devices के बीच data transmission करने का काम करता है जैसे की computers, mobiles, tablets etc.

Bluetooth, Personal Area Network का example है लेकिन यह एक Wireless PAN होता है जो की Radio wave का इस्तेमाल करके data transfer करने का काम करता है|

6. CAN (Campus Area Network)

CAN का फुल फॉर्म “Campus Area Network या Controller Area Network” होता है लेकिन कभी कभी इसका फुल फॉर्म “Cluster Area Network” भी होता है| Campus Area Network Multiple Local Area Network के द्वारा एक Limited area में connected होता है मतलब की Multiple LAN नेटवर्क के द्वारा मिलकर एक limited area में जो नेटवर्क connect किया जाता है उसे Campus Area Network कहा जाता है|

साधारण शब्दों में कहें तो ऐसा नेटवर्क जो की एक Campus (जैसे की Office, School, College) को connect करने का काम करता है उसे Campus  Area Network कहा जाता है| यह Wide Area Network और Metropolitan Area Network से छोटा होता है मतलब की इन दोनों से इसका range कम होता है| इसको “Corporate Area Network” भी कहा जाता है|

CAN के फायदे – Benefits of CAN

  • इसका cost कम होता है|
  • यह LAN के अपेक्षा ज्यादा Networking device को connect करने की क्षमता रखता है|
  • यह Wireless और Wired दोनों हो सकता है|
  • इसके द्वारा Multiple Department को connect किया जा सकता है|

SAN (Storage Area Network)

SAN का फुल फॉर्म “Storage Area Network” होता है| यह एक High-Speed Data Transfer Network होता है जो की Block-level Storage को access करने की facility provide करता है| Storage Area Network एक Storage devices का network बनाता है जो की Multiple server के द्वारा accessible होता है|

SAN को कभी कभी SAN Storage, SAN Network, Network SAN भी कहा जाता है| इसके बारे में details में हम आगे के पोस्ट में पढेंगे|

Conclusion and Final Words

जब दो या दो से अधिक computers को किसी भी communication channel के माध्यम से connect करते हैं तो उसे Computer Network कहा जाता है| Computer network generally तीन प्रकार के होते हैं: LAN (Local Area Network), MAN (Metropolitan Area Network), and WAN (Wide Area Network). इसके अगले पोस्ट में हम जानेंगे की Computer Networking क्या होता है और computer networking device कौन कौन से होते हैं?

Friends! इस पोस्ट में हमने सीखा की Computer network क्या होता है? यह कितने प्रकार के होते हैं? मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको काफी पसंद आया होगा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें और साथ ही साथ यदि इस पोस्ट से related आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो निचे दिए गए comment box के द्वारा सुझाव दे सकते हैं| Guptatreepoint blog पर आने के लिए धन्यवाद|

About the author

SUMIT KUMAR GUPTA

Hi Friends! I am Sumit Kumar Gupta, a Web developer, programmer and blogger. I love to write a blog and share our thoughts and knowledge with other peoples. I think the articles written by me will be very helpful for you. Thank you.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.