Networking

Ethernet क्या है -Definition of Ethernet and Types of Ethernet in Hindi

Ethernet क्या है -Definition of Ethernet and Types of Ethernet in Hindi. What is Ethernet in Hindi? दोस्तों आपने तो LAN के बारे में सुना ही होगा की LAN एक network होता है जो की एक office में या एक building में computer network बनाने का काम करता है| इ Ethernet भी LAN से ही जुड़ा हुआ कुछ शब्द है| तो आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे की Ethernet क्या होता है? यह कितने प्रकार का होता है इत्यादि| Hello Friends! How are you? Welcome again to Guptatreepoint blog. Let’s start what is Ethernet in Hindi?

Ethernet क्या है – What is Ethernet in Hindi?

Ethernet एक technology होता है जो की Wired Local Area Network में इस्तेमाल होता है| LAN एक computer network होता है जो की small area जैसे की घर, ऑफिस, school, college को cover करता है मतलब की LAN, small area में computer network establish करने का काम करता है|

यह एक Network protocol होता है जो LAN (Local Area Network) के द्वारा Transmit होने वाले data को control करता है मतलब की data कैसे transmit करना है वो यह बताता है| IEEE (Institute of Electrical and Electronics Engineers) ने Ethernet को एक Protocol 802.3 के जैसा define किया लेकिन अगर general term में बात करें तो यह एक प्रकार का LAN नेटवर्क होता है|

बहुत सारे लोग अपने पुरे life में Ethernet technology का इस्तेमाल करते हैं वो भी बिना इसके जाने, यह wired LAN network होता है जिसे आप अपने office में, School में, College में, building में इस्तेमाल करते हैं इसके अलावा और भी बहुत सारे जगह हैं जहाँ पर बहुत सारे computers एक दुसरे से LAN cable के द्वारा connected होते हैं जो की ईथरनेट केबल होता है| अभी अधिकांश computer और desktop में पहले से ही Ethernet card available होता है जिससे आप आसानी से Ethernet cable के द्वारा दो या दो से अधिक computer को connect करके data transfer कर सकते हैं|

Ethernet image

Ethernet History – ईथरनेट का इतिहास

Ethernet को 1973 से 1974 के बीच Xerox PARC में develop किया गया था| Xerox PARC एक research और development company है जो की California के Palo Alto में स्थित है| यह ALOHAnet के द्वारा प्रेरित हुआ था, जिसे Robert Metcalfe ने PHD शोध प्रबंध के रूप में अध्ययन किया था| ALOHAnet एक computer networking system था जिसे University of Hawaii में develop किया गया था| इसको ALOHA system या simply “ALOHA” के नाम से भी जाना जाता है|

सबसे शुरू में Ethernet 10MBps के speed से चलता था जिसे की पहली बार 1980 में DEC-Intel-Xerox vendor consortium के द्वारा प्रकाशित किया गया| इसे DIX Ethernet Standard के नाम से भी जाना जाता है| For Details History

Ethernet LAN setup के लिए जरुरी चीजे:

अगर आप ईथरनेट LAN setup करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ चीजे की आवश्यकता पड़ेगी जो की निचे दिए गए हैं|

  • Computer और devices जिसे आप ईथरनेट LAN के द्वारा connect करना चाहते हैं| यह वैसे सभी computers और devices को नेटवर्क के द्वारा connect करता है जिसके पास Ethernet adapter या ईथरनेट कार्ड होता है|
  • Devices में Network Interface cards होना चाहिए| Network interface cards या तो computer के motherboard में inbuilt रहता है या फिर इसे अलग से install करना पड़ता है| इसमें ports होते हैं जहाँ पर आप cable को connect कर सकते हैं| Generally दो ports होते हैं: एक RJ-45 jack के लिए जो की Unshielded Twisted-Pair (UTP) cable को connect करता है और दूसरा Coaxial jack के लिए|
  • Devices को connect करने के लिए एक Router, Hub या Gateway की आवश्यकता पड़ती है|
  • Devices को एक दुसरे से जोड़ने के लिए एक Cable की आवश्यकता पड़ती है| इसमें generally UTP Cables use होते हैं|
  • Network को manage करने के लिए software की आवश्यकता होती है| अभी जितने भी operating system available हैं जैसे की Latest version of Windows, MacOS, Linux इत्यादि, ये सभी Ethernet LAN को manage करने के लिए sufficient (पर्याप्त) हैं|

ईथरनेट कैसे काम करता है – How Ethernet Works

अगर आप ईथरनेट के working process के बारे में जानना चाहते हैं तो मैं आपको इसके बारे में बहुत ही आसान भाषा में बताता हूँ लेकिन यदि आपके पास Technical knowledge है तो आप इसे बहुत ही अच्छे तरीके से समझेंगे| जैसा की मैंने ऊपर में बताया था की ईथरनेट cable का इस्तेमाल LAN setup करने के लिए होता है, यह बहुत ही कम area के लिए उपयोग किया जाता है जैसे की एक घर के लिए, एक school के लिए, एक office के लिए इत्यादी|

जब एक मशीन नेटवर्क के द्वारा दुसरे मशीन को data send करना चाहती है तो वह सबसे पहले Carrier (वाहक: packet ढोने वाला) को sense करती है मतलब की carrier को active करती है जिससे वह check कर सके की जितने भी wire computer network में connected हैं उनमे पहले से कोई data packet available तो नहीं है ना, मतलब की यह check करता है की data send करने का रास्ता clear है या नहीं that means wire free है या नहीं|

यदि सभी wire free होता है तो कोई भी एक मशीन उस network में data को send कर सकता है और उसके बाद उस computer network से जुड़े सारे मशीन यह check करने लग जाते हैं की इस data को कहाँ पर receive होना है| उस डाटा को यानि की उस packet को (नेटवर्क में data packet के form में जाता है) जहाँ पर receive होना होता है वहां पर receive कर लिया जाता है|

कभी कभी ऐसा होता है की एक मशीन डाटा को send तो कर देता है लेकिन दुसरे मशीन किसी और data packet को receive करने में busy (ब्यस्त) होता है तो ऐसी स्थिति में एक मशीन के द्वारा भेजा गया data packet कुछ देर तक इंतजार (Wait) करता है और जब भी दूसरा मशीन free हो जाता है तो वह data packet उस मशीन के पास फिर से send कर दिया जाता है जिससे वह मशीन data packet को receive कर सके|

Types of Ethernet in Hindi – ईथरनेट के प्रकार

बहुत सारे ईथरनेट नेटवर्क होते हैं जो की निचे दिए गए हैं| दो या दो से अधिक कंप्यूटर और devices जब एक दुसरे से connect होते हैं तो उसे network कहा जाता है|

  1. Fast Ethernet
  2. Gigabit Ethernet
  3. 10 Gigabit Ethernet

1. Fast Ethernet

Fast Ethernet एक प्रकार का ईथरनेट नेटवर्क होता है जो की Twisted-pair cable और Fiber optic cable का उपयोग करके 10 Mbps से लेकर 100 Mbps तक के speed से data transfer करने का काम करता है, जबकि ईथरनेट 10 Mbps के speed से data transmit करने का काम करता है हालाँकि पुराने वाले ईथरनेट version को अभी भी इस्तेमाल किया जाता है लेकिन वह Video application के लिए necessary bandwidth provide नहीं कर पाता है|

ईथरनेट standard को IEEE standard 802.3 कहा जाता है जबकि इसका extended version fast ईथरनेट आया जिसे IEEE Standard 802.3u कहा जाता है, फ़ास्ट ईथरनेट higher transmission speed के लिए बनाया गया| यह Video, Multimedia, graphics, internet surfing इयादी के लिए faster throughput provide करता है जिससे video और audio का quality पूरी तरह से end user तक पहुँच जाता है|

फ़ास्ट ईथरनेट तीन प्रकार के होते हैं: पहला 100BASE – TX जिसे Level 5 UTP (Unshielded Twisted-pair) cable के साथ उपयोग किया जाता है| दूसरा 100BASE – FX जिसे fiber-optic cable के साथ उपयोग किया जाता है और तीसरा 100BASE – T4 जो की Level 3 UTP (Unshielded twisted-pair) cable के लिए extra two wires को utilize (उपयोग) करता है| 100BASE – TX standard सबसे popular हो चूका है क्योंकि यह 10BASE-T Ethernet standard के साथ compatible है|

2. Gigabit Ethernet

Gigabit Ethernet एक प्रकार का ईथरनेट नेटवर्क होता है जो की Twisted-pair cable और Fiber optic cable का उपयोग करके 1000 Mbps के speed से data transfer करने के लिए capable होता है, यह सबसे पोपुलर नेटवर्क होता है| Multimedia और Voice over IP (VoIP) जैसे applications के साथ faster communication के लिए Gigabit ईथरनेट को develop किया गया, जिसे  “gigabit-Ethernet-over-copper” या 1000Base-T के नाम से भी जाना जाता है|

ईथरनेट के इस version का speed 100BASE-T के अपेक्षा दस गुना faster है| Gigabit ईथरनेट को support करने वाला twisted-pair cable Cat-5e cable है, जहाँ cable का सभी चारो twisted wires High data transfer rate को achieve (प्राप्त) करने के लिए उपयोग होता है| Video systems के लिए Cat-5e और higher category के cable recommend किया जाता है|

3. 10 Gigabit Ethernet

10 Gigabit ईथरनेट, ईथरनेट का सबसे latest generation है जो की Twisted-pair और Fiber optic cable का use करके 10Gbps (10,000 Mbps) तक data transfer करने की क्षमता रखता है| IEEE 802.3ae ईथरनेट के एक version को define करता है जो की Gigabit Ethernet से 10 गुना faster है मतलब की यह 10Gbps के speed से data transfer करने की क्षमता रखता है|

10GBASE-LX4, 10GBASE-ER और 10GBASE-SR Optical Fiber cable के आधार पर 10,000 मीटर (6.2 miles) तक के दुरी जोड़ने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है|

Content and photo credit:

Conclusion and Final Words

Ethernet एक technology होता है जिसे LAN, MAN और WAN के साथ setup किया जाता है लेकिन ज्यादातर यह LAN (Local Area Network) के साथ ही setup होता है| इस technology का इस्तेमाल डाटा को एक computer से दुसरे computer में transfer करने के लिए होता है|

दोस्तों मैंने इस पोस्ट में Ethernet के बारे में बताया| मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपको पसंद आया होगा इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें और साथ ही साथ यदि इस पोस्ट से related आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप निचे दिए गए comment box के द्वारा सुझाव दे सकते हैं| Guptatreepoint blog पर आने के लिए धन्यवाद|

Read Also:

 

About the author

SUMIT KUMAR GUPTA

Myself Sumit Kumar Gupta. I am a programmer and blogger. I spend more time on programming and helps other programmers. I am a part-time blogger because I would like to become a Software developer.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

1 Comment

  • Sumit Kumar G aapne bahut accha article likha hai aapke blog me Hum Logon Ko Kasi Khushi Itni Ko Mila Hai Sach Mein Kahin Toh Hum Chi block padhte Hain lekin Itni Bari ki se Kisi blogger ka Samjhana Itna achha nahi Jitna aap ka accha hai